आओ मतदान करें, देश का निर्माण करें ।

दोस्तों, चुनावी दौर शुरू है और सभी दल खुद को बेहतर एवं  विकासोन्मुखी दिखाने के लिए जी जान से लगे हुए है। ऐसे समय में देश के प्रत्येक नागरिक की जिम्मेदारी और बढ़ जाती है क्योंकि यह चुनाव केवल पार्टी या विचारधारा को चुनने का नहीं है अपितु यहाँ से तय होगा की अगले पाँच वर्षो के लिए देश की दिशा एवं दशा क्या होने वाली है। 

एक तरफ वर्तमान सत्ताधारी पार्टी ने अपना विज़न सामने रख दिया है की वह विकास के साथ-साथ राष्ट्रवाद पर भी सामान रूप से केंद्रित रहेगी वही दूसरी ओर देश की दूसरी सबसे बड़ी पार्टी एवं मुख्या विपक्षी दल ने सालाना कैश देकर लोक लुभावन योजनाओं की लम्बी फेहरिस्त जारी कर दी है इसके अतिरिक्त पुरे देश में एक नया समीकरण बनाने के उद्देश्य से वह दल भी साथ आ गए  है जो कभी एक दूसरे को फूटी आँख भी नहीं सुहाते थे।  यह चुनाव सच में दिलचस्प है की जनता जनादर्न को किसकी बात समझ आती है और किसे वह किनारे कर देती है। जो भी हो पर मुकाबला अत्यंत ही रोचक हो चुका है अब देखना यह होगा की 23 मई को जनता किसका राज्याभिषेक करती है ?

घर से बहार निकले और मतदान कर लोकतंत्र के जश्न को और खूबसूरत बनाएं ।